मुजफ्फरपुर में रुपए डबल करने का लालच दे 45 ग्राहकों को लगाया 2 करोड़ का चूना, ठगी के शिकार लोगों ने डेढ़ साल बाद शातिर को दबोचा

मुजफ्फरपुर में रुपए डबल करने का झांसा देने वाला गैंग एक्टिव है। इस गैंग के दो मेंबर ने मिलकर 45 लोगों को 2 करोड़ रुपए का चूना लगा दिया है। डेढ़ साल से वह फरार था। लेकिन, किसी तरह ठगी के शिकार लोगों को उसके बारे में जानकारी मिली। वह समस्तीपुर में था। वहीं पर जाकर लोगों ने उसे पकड़ लिया। फिर वहां से लाकर उसे अहियापुर पुलिस के हवाले कर दिया। थाना में आवेदन भी दिया गया। इसी बीच पीड़ितों को जानकारी मिली कि थाना से उसे बिना कार्रवाई के छोड़ा जा रहा है। इस पर आक्रोशित होकर हंगामा भी किया। लेकिन, थानेदार विजय कुमार के समझाने पर शांत हुए। उन्होंने कहा कि जांच की जा रही है। जो भी तर्क संगत कार्रवाई होगी। वह की जाएगी। इसके बाद लोगों का गुस्सा शांत हुआ। वहीं पुलिस की माने तो थाना में आवेदन नहीं देने की बात बताई जा रही है। जबकि 45 लोगों का सिग्नेचर किया हुआ आवेदन पीड़ितों ने दिखाया है, जो थाना में दिया गया है।

20 महीने में डबल होने का दिया था झांसा

अहियापुर के अमरेश कुमार ने बताया कि डेढ़ साल पूर्व आरोपित नजमुल होदा ने एक कमेटी बनाया था। इसमे काफी लोगों को जोड़ा। उसके साथ तनवीर नाम का युवक भी था। कहा कि 20 महीने में पैसा डबल हो जाएगा। उन्होंने पहले एक लाख रुपये दिए। 2 महीने तक उन्हें 10% इंटरेस्ट के साथ उसने रुपए लौटा दिए थे। फिर वे भी लालच का शिकार हो गए। उन्होंने कर्ज लेकर 10 लाख रुपये शातिर को दे दिए। इसी तरह करके उसने काफी लोगों से करीब 2 करोड़ रुपए ऐंठ लिया। फिर पैसा देना बंद कर दिया। जब उसे कॉल किया तो उसने रुपए नहीं लौटाने की बात कही। फिर मोबाइल नम्बर बदलकर गायब हो गया।

किसी ने एक तो किसी मे 25 लाख तक दिए थे

मोहम्मद अशरफ ने बताया कि वे भी पैसा डबल होने के लालच में फंस गए थे। उन्होंने तो अपने जीवन की पूरी कमाई उसे दे दिया था। उन्होंने 25 लाख रुपए दिए थे। आरोपी ने 50 लाख रुपए 20 महीने पूरा होने पर देना का वादा किया था। इसी तरह किसी से 50 हजार तो किसी से एक लाख रुपए भी ले रखा था। फिर अचानक से वह गायब हो गया। डेढ़ साल से वे लोग उसकी तलाश कर रहे थे। अब जाकर वह पकड़ा गया है। उसने सिर्फ मुजफ्फरपुर ही नहीं। बल्कि सीतामढ़ी के लोगों को भी अपने जाल में फंसाया है।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.