BRABU के रजिस्ट्रार का फर्जी वेबसाइट बनाने वाले शातिर गिरफ्तार, 3000 पदों पर निकाल दी थी वैकेंसी

BRABU के रजिस्ट्रार का फर्जी वेबसाइट बनाकर वैकेंसी निकालने वाले दो शातिरों को विश्वविद्यालय थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की पहचान विक्रम कुमार और मनीष कुमार के रूप में हुई है। विक्रम रजिस्ट्रार के कार्यालय में रेगुलर क्लर्क के पद पर कार्यरत है और मनीष LNT कॉलेज में स्टाफ था। दोनों से पूछताछ कर जेल भेजने की कवायद की जा रही है। घटना दिसम्बर 2020 की है। उसी दौरान इन दोनों ने मिलकर तत्कलीन रजिस्ट्रार कर्नल अजय कुमार के नाम से फर्जी वेबसाइट बना दिया था। इतना ही नहीं इन्होंने वेकैंसी में जारी कर दी थी। काफी छात्रों ने जॉब के लिए अप्लाई भी किया था।

3000 पद पर निकाली थी वैकेंसी

थानेदार रामनाथ प्रसाद ने बताया कि आरोपियों ने साइबर शाखा में तकनीकी सहायक समेत 3000 पदों पर वैकेंसी निकाल दी थी। जिसमें परीक्षा नियंत्रक से लेकर क्लर्क तक कि बहाली थी। करीब 2000 छात्रों के अप्लाई करने के बाद जब कुछ छात्र इसका पता लगाने के लिए रजिस्ट्रार तक पहुंचे। तब जाकर मामला उजागर हुआ। तत्कालीन रजिस्ट्रार ने फौरन थाना में FIR दर्ज कराया। मामले की छानबीन करने के दौरान शुक्रवार को दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

IP एड्रेस और मोबाइल से पकड़ाया

पुलिस ने मामले में वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान शुरू किया। इस दौरान इनके मोबाइल का IP एड्रेस और रजिस्ट्रार के सिस्टम से इस्तेमाल किए गए IP एड्रेस से इसका पता लगा। सरकारी सिस्टम में ही सेंधमारी कर फर्जी वैकेंसी निकाल दी थी। थानेदार ने बताया कि दोनों अप्राथमिक अभियुक्त थे। अनुसंधान के क्रम में इनका नाम सामने आया है। एक और आरोपी की संलिप्तता का पता लगा है। उसके खिलाफ जांच अभी जारी है। इसके अलावा एक अन्य बिंदु पर जांच चल रही है। जिसमे ये पता लगाया जा रहा है कि कितने रुपए वैकेंसी अप्लाई करने से इनके पास आए थे।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.